Shaina NC felicitates Ratan Tata meets Mohan Bhagwat


Shaina NC felicitates Ratan Tata meets Mohan Bhagwat

In a surprising development, business tycoon and Tata Sons chairman Ratan Tata met Rashtriya Swayamsevak Sangh chief Mohan Bhagwat at RSS headquarters, Mahal in Nagpur on Wednesday afternoon news agency PTI reports. Tata was accompanied by BJP spokesperson Shaina NC. Reports said that Tata had a 30-minute talk with the RSS chief. Tata also paid tributes to RSS founder Keshav Baliram Hedgewar before meeting Bhagwat. It is reportedly said that BJP spokesperson Shaina NC felicitated this meeting between RSS chief Mohanji Bhagwat and Ratan Tata, who claimed the meeting was to discuss Tata Charity work and RSS Service to mankind.

What transpired in the meeting was, however, not known. However, the timing of Tata’s meet with the RSS chief has set tongues wagging. Tata is battling a fight with ex-Tata Sons chief Cyrus Mistry, who was unceremoniously removed from the office in October.

Tata, who had retired as Chairman of Tata Sons in December 2012 had seen off big names like Russi Mody of Tata Steel, Darbari Seth of Tata Chemicals, Ajit Kerkar of Indian Hotels, and A H Tobaccowala of Voltas in the 1990s. In contrast, Mistry, who succeeded Tata and let many believe that he would remain in the position for long, was removed even before he could settle his foot in the company affairs properly.

Tata-Mistry battle came as a shocker to the entire industry in 2016. Mistry was sacked as the chairman of Tata Sons which ensued an unending slugfest that is unlikely to end soon in the new year. There have been several speculations over the reasons for the fight that led to Tata’s return at the helm of affairs for four months.

News agency Reuters reported on December 26 that “a distinct set of governance rules” could be the reason behind the feud between the duo. The report said that at the time of his retirement in 2012, Ratan Tata had recommended a change in the laws governing the relationship between India’s largest conglomerate and its key shareholder.

“Tata wanted to make sure the Trusts, that rely on Tata Sons for dividends to fund their charitable work, could keep having a major say in company decisions,” sources told Reuters. “Mistry agreed, and in doing so sowed the seeds of his ouster from the company last October,” they added. Tata’s sudden visit to RSS headquarters exemplifies the clout wielded by Bhagwat and RSS at the state level besides reinforcing the belief that Nagpur is a parallel power centre in the country. Tata also visited Deekshabhoomi, the place where Dr Babasaheb Ambedkar embraced Buddhism along with his followers in 1956.

 

Advertisements

नोटबंदी पर बिल गेट्स ने की पीएम मोदी की तारीफ, बताया साहसिक फैसला


नोटबंदी पर बिल गेट्स ने की पीएम मोदी की तारीफ, बताया साहसिक फैसला

बिल गेट्स ने पीएम मोदी द्वारा कालेधन पर की गई सर्जिकल स्‍ट्राइक का समर्थन करते हुए इसको
देशहित में बताया है। उन्‍होंने इसको साहसिक निर्णय बताया है।

नई दिल्ली। (Fri, 18 Nov 2016) अमेरिकी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स ने भारत में
500 और 1000 रुपये के नोटों पर प्रतिबंध लगाने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसले को काफी
सराहा है। उन्होंने इसको साहसिक निर्णय बताते हुए उनकी जमकर तारीफ की है। उनका कहना है कि
पीएम के इस फैसले से देश में कालेधन के साथ-साथ भ्रष्टाचार में भी गिरावट आएगी।

डिजिटल तकनीक से बढ़ेगी पारदर्शिता

एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक नीति आयोग द्वारा आयोजित ‘भारत का कायाकल्प’ सेमिनार में
बोलते हुए गेट्स ने कहा कि डिजिटल तरीकों से लेनदेन से पारदर्शिता बढ़ेगी और कालाधन समेत
नकली नोटों के चलमें अभूतपूर्व कमी आएगी। इसके अलावा भारत में डिजिटल वित्तीय समावेश के
सभी साधन मौजूद है। आधार से खाता खोलने की कागजी कार्रवाई कम होगी और यह काम 30
सेकेंड में हो जागा। आधार से एक एकीकृत डाटा भंडार भी बनेगा।

धोखाधड़ी में भी आएगी कमी

जल्दी ही शुरू होने वाले भुगतान बैंक और मोबाइल फोन के प्रसार से हर भारतीय को डिजिटल खाते
और हर प्रकार की कंप्यूटर प्रणाली से संपर्क की जा सकने वाली और धोखाधड़ी से अलग भुगतान
प्रणाली के साथ जोड़ा जा सकता है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने 8 नवंबर को अप्रत्याशित
निर्णय कर 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों का चलन बंद कर दिया है।

शैडो इकनॉमी होगी खत्म

गेट्स के मुताबिक केंद्र सरकार के सरकार के इस फैसले से देश में शैडो इकॉनमी को खत्म करने में
मदद मिलेगी और साथ ही भारत कैशलेस इकॉनमी की ओर बढ़ सकेगा। बिल गेट्स ने तकनीक को
अहम बताते हुए कहा कि वह इसपर विश्वास करते हैं लेकिन यह तभी ताकतवर साबित होती है जब
उसका इस्तेमाल करने वाले लोग भी मजबूत हों। नियमन और तंत्र के लिए भी तकनीक का इस्तेमाल
बेहतर होता है। मगर तकनीक तभी लंबे समय तक काम कर सकती है जब उस दुनिया में स्थिरता
और स्थायित्व हो जिसमें हम रह रहे हैं। उन्होंने भारत के प्रयासों को लेकर कहा कि देश जो प्रयास
कर रहा है, वैसा दुनिया के किसी दूसरे देश ने पहले कभी नहीं किया है। भारत यह बात जानता है
कि उसे कितनी अहम चुनौतियों को पार करना है। साथ ही सरकार भी इन समस्याओं से निपटने के
लिए प्रतिबद्ध नजर आ रही है।

भारत में कुपोषण बड़ी समस्या

स्वास्थ्य से जुड़ें मुद्दों पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि अगर भारत में स्वास्थ्य संबंधी किसी एक
समस्या का समाधान करने की कोई जादू की छड़ी मेरे पास हो, तो मैं उससे कुपोषण के संकट को
दूर करना चाहूंगा। भारत में कुछ ऐसे राज्य एवं क्षेत्र हैं, जहां कुपोषण कोई अनोखी नहीं बल्कि एक
सामान्य बात है। बच्चों में कुपोषण के चलते भारत की अर्थव्यवस्था को 2030 तक सालाना 46 अरब
डॉलर का नुकसान होने का अनुमान है। देश में पांच वर्ष से कम के 4.4 करोड़ बच्चों का शारीरिक
विकास कम है।

Rajan with Mahamahim in a group


image
Actor, Performer, hero Rajan Kumar of forthcoming Hindi film Shaher Maseeha Nahi with the honourable President Shri Pranab Mukherjee in a group of actors who performed at National Parade on 26th Jan, 2016 in New Delhi.

Actor, Performer, hero Rajan Kumar of forthcoming Hindi film Shaher Maseeha Nahi with the honourable President Shri Pranab Mukherjee in a group of actors who performed at National Parade on 26th Jan, 2016 in New Delhi.

image